मांडोली में लगे मनरेगा भ्रष्टाचार कर्मचारी ,बीडीओ जांच का दिए निर्देश

निचलौल(महराजगंज)ढेसो गांव में हो रहे मनरेगा के तहत चकमार्ग कार्य पर फर्जी मस्टरोल जारी कर पुराने फोटो को लगाकर हाजिरी लगाई जा रही थी।” बिना काम कराये लग रही मनरेगा श्रमिकों की फर्जी हाजिरी, दो सप्ताह में तीन लाख रुपए की धांधली आई सामने “नामक शीर्षक से स्टार पब्लिक न्यूज़ ने प्रमुखता से खबर प्रकाशित किया। ग्राम सभा में मनरेगा से चकमार्ग पर मिटटी भराई का कार्य कराया जा रहा था। जो सिर्फ कागजों में चल रहा। धरातल पर काम कागज में काम करने से पहले ही हो चुका था जबकि सूत्रों के हवाले जानकारी मिल की मस्टरोल जारी होने से पहले ही कार्य को 2 दिन में ही समाप्त कर उसके बाद मस्टरोल जारी किया गया। वहीं नाम बताने से कतरा रहे ग्रामीणों ने कहा कि हमारे गांव में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है रोजगार सेवक से लेकर ग्राम प्रधान तक भ्रष्टाचार करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे । मनरेगा श्रमिकों की फर्जी हाज़िरी भर कर धन उगाई करने में सर्वप्रथम इनका ही हाथ है श्रमिकों का हक छीना जा रहा। इस संबंध में खण्ड विकास अधिकारी शमा सिंह ने कहा सचिव को निर्देशित कर दिया गया है जांच कर जल्द से जल्द कार्यवाही की जाएगी । संबंधित ग्राम सचिव क्या करेंगे जांच जब पूरा खेल उन्हीं के हाथ से हो रहा।

निचलौल तहसील प्रभारी-विजय पाण्डेय की रिपोर्ट

Check Also

11000 वोल्टेज तार गिरने से बाल बाल बचे विद्यार्थी और अध्यापक 

🔊 Listen to this महराजगंज:-निचलौल तहसील क्षेत्र के ग्राम सभा लोडीया में प्राथमिक विद्यालय छठ …