*CAA Protest : गोरखपुर में भारत बंद बेअसर, देवरिया में पूर्व सांसद आस मोहम्‍मद हिरासत में*

*CAA के विरोध में भारत बंद का गोरखपुर में कोई असर नहीं पड़ा। सुबह अपने निर्धारित समय से दुकानें खुलीं*।*


*सीएए के विरोध में भारत बंद का गोरखपुर में कोई असर नहीं पड़ा। सुबह अपने निर्धारित समय से दुकानें खुलीं। बंदी को लेकर शहर में कहीं कोई हलचल तक भी नहीं दिखी। हलांकि एक दिन पहले बंदी के समर्थन में पर्चे बांटे गए थे।*

*बंदी के समर्थन में बंटे पर्चे, पुलिस अलर्ट*

*बहुजन क्रांति मोर्चा के भारत बंद के समर्थन में मंगलवार की रात शहर की मिश्रित आबादी वाले इलाके में पर्चे बांटे गए। खबर लगते ही पुलिस अधिकारियों ने फोर्स के साथ गश्त शुरू कर दिया। सीसी फुटेज की मदद से पुलिस पर्चे बांटने व पोस्टर चस्पा करने वालों की पहचान करने की कोशिश में जुटी है।*

*बहुजन क्रांति मोर्चा ने किया है बंद का एलान*

*सीएए के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा ने बुधवार को भारत बंद का ऐलान किया है। मंगलवार की शाम पुलिस अधिकारियों ने बैठक कर बंदी के प्रभाव व सुरक्षा-व्यवस्था की समीक्षा की। शहर के संवेदनशील इलाकों में थानेदार व चौकी प्रभारियों की ड्यूटी लगा दी गई। रात में कई संगठनों ने बंदी के समर्थन की घोषणा कर दी। कोतवाली, राजघाट व तिवारीपुर के मिश्रित आबादी वाले इलाके में बंदी का समर्थन करने के लिए पोस्टर चिपकाने के साथ ही पर्चे बांटना शुरू कर दिया*।

*हरकत में आई पुलिस*

*सूचना मिलते ही हरकत में आई पुलिस अधिकारी फोर्स के साथ गश्त पर निकल गए। एसपी सिटी डॉ. कौस्तुभ ने बताया कि शहर में चिन्हित किए गए हॉट स्पाट पर फोर्स तैनात कर दी गई है। मोबाइल दस्ते के साथ सीओ व थानेदार गश्त कर रहे हैं। पर्चे बांटने वालों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है*।

*पूर्व सांसद आस मोहम्मद व उनकी पत्नी आसमा पुलिस हिरासत में*

*नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देवरिया शहर के सुभाष चौक पर धरना देने आ रहे पूर्व सांसद (राज्य सभा) आस मोहम्मद व उनकी पत्नी आसमा खातून को पुलिस ने सलेमपुर के निकट हिरासत में ले लिया है, दोनों लोगों को सलेमपुर कोतवाली ले जाया गया*।

*संविधान की प्रति लेकर आ रहे थे आस मोहम्मद*
आस मोहम्मद सलेमपुर स्थित अपने आवास से संविधान की प्रति लेकर देवरिया आ रहे थे। इसकी जानकारी मिलते ही उनके आवास के सामने से ही दोनों लोगों को पुलिस ने रोक लिया इसके बाद वाहन में बैठाकर सलेमपुर कोतवाली लाया गया है। कोतवाली परिसर के बाहर पूर्व सांसद के समर्थकों का आना शुरू हो गया है। इसको लेकर पुलिस भी सतर्क है।

*धारा 144 का मैंने पालन किया : पूर्व सांसद*

*पूर्व सांसद आस मोहम्मद ने कहा कि जिले में धारा 144 लागू है इसके मद्देनजर मैंने अपने आंदोलन को अहिंसात्मक तरीके से अपनी पत्नी के साथ आंदोलन करने का फैसला किया था उसी के तहत में संविधान लेकर आ रहा था कि मेरे घर के सामने से ही पुलिस ने हम दोनों लोगों को रोक लिया। पुलिस की यह कार्रवाई संविधान विरोधी है।*

*पूर्व सांसद व उनकी पत्नी को सलेमपुर कोतवाली लाया गया है। उनके आंदोलन से कानून व्यवस्था पर प्रतिकूल असर पड़ने की संभावना है। – डॉ श्रीपति मिश्र, पुलिस अधीक्षक देवरिया। ******************************************

Check Also

मनरेगा योजना में बड़े पैमाने पर की जा रही धांधली, बिना काम कराए लग रही फर्जी हाजिरी

🔊 Listen to this निचलौल(महराजगंज)रोजगार सहायक एवं मेट हाथ साफ कर रहे हैं। निचलौल ब्लाक …