*नकली RTO बनकर ट्रक से कर रहे थे वसूली, पुलिस ने किया गिरफ्तार*

*सोनौली बाडर.पर नकली RT0और पुलिस बन कर साम होते ही टक वालो से बसूली पैसा न देने पर डाईबरो को पीटते है नकली पुलिसऔर RTO बने युवक *

*आज कल युवाओं में सरकारी नौकरी पाने के लिए होड़ सी मची हुयी है। जब असल में उनका सरकारी नौकरी का सपना पूरा नहीं होता तो वह फर्जी सरकारी नौकर बनकर कृत्य को अंजाम देने से नहीं चूकते। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सामने आया है। जहां शहबाज आलम नामक युवक नकली आरटीओ बनकर अपने साथियों समेत रात में ट्रको की चेकिंग करता था। चेकिंग के दौरान जिन ट्रकों को उसके साथी रोकते थे उनसे वसूली भी करता था। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार किया है।*

*पुलिस पूछताछ में पता चला है कि शहबाज आलम ने लखनऊ के रहने वाले आनंद कुमार से पैसा लेकर कानपुर आरटीओ में चालक पद का नियुक्ति पत्र दिया है। आनंद जब आरटीओ दफ्तर पहुुंचा तो यहां आरटीओ प्रशासन से बताया कि चालक पद पर उसकी नियुक्ति हुई है। यह बात सुनकर विभाग सक्ते में आ गया। जब कि विभाग से ऐसी कोई नियुक्ति हुयी ही नहीं है। आनंद कुमार की बातें सुनकर आरटीओ उदयवीर सिंह को शक हुआ कि यह नियुक्ति पत्र नकली है। उदयवीर सिंह ने उससे फिर पूछताछ की तो पता चला कि शहबाज आलम अभी ऑफिस आ रहे हैं। तब उदयवीर सिंह का शक और भी गहरा हो गया। फिर उन्होंने मौके पर पुलिस को बुला लिया। नकली आरटीओ शहबाज जैसे ही उदयवीर के कमरे में पहुंचा तो पुलिस ने उसे दबोच लिया।*

पुलिस की पूछताछ में नकली आरटीओ बना शहबाज ने बताया कि वो किसी सरकारी विभाग से नहीं है। वह लखनऊ आरटीओ में दलाली करता है। वह आनंद से पैसा लेकर उसको फर्जी नियुक्ति पत्र दिया था। इस मामले में कानपुर आरटीओ प्रशासन का कहना है कि यह फर्जी एआरटीओ बनकर गाडिय़ों की चेकिंग करता था। इसने सरकारी विभाग में एक युवक को चालक के पद पर फर्जी निुक्ति पत्र दिया था। इसके पास से नकली मोहर, आईडी कार्ड मिले हैं। इसको पुलिस के हवाले कर दिया गया है।******************************************

Check Also

मनरेगा योजना में बड़े पैमाने पर की जा रही धांधली, बिना काम कराए लग रही फर्जी हाजिरी

🔊 Listen to this निचलौल(महराजगंज)रोजगार सहायक एवं मेट हाथ साफ कर रहे हैं। निचलौल ब्लाक …