गोरखपुर एम्‍स में साढ़े तीन महीने से बंद ओपीडी जल्‍द शुरू होने के आसार नहीं, जानिए टेली कॉन्फ्रेंसिंग का क्‍या है हाल*

एस पी न्यूज(सवांददाता)*गोरखपुर एम्स में ओपीडी बंद है। इसको शुरू करने को लेकर अब तक संशय बना हुआ है। करीब साढ़े तीन महीने से ओपीडी बंद है। ओपीडी कब शुरू होगी इसको भी लेकर अधिकारी अब तक कोई कार्ययोजना सामने नहीं ला सके हैं*।
*देश में कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद 22 मार्च से पहले जनता कर्फ्यू फिर लॉकडाउन हो गया। तभी से एम्स में भी ओपीडी बंद हो गई। अंतिम ओपीडी 20 मार्च को हुई थी। प्रशासन ने सरकार के आदेश का हवाला देते हुए परिसर में ओपीडी पर रोक लगा दी।*

*टेली कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देते हैं सलाह
एम्स में वर्ष 2019 में 24 फरवरी को ओपीडी की शुरुआत हुई। पहले चरण में 10 विभागों की ओपीडी शुरू हुई। समय के साथ एम्स प्रशासन ने विस्तार किया। अब 14 विभागों की ओपीडी चलती है। इसमें मेडिसिन, जनरल सर्जरी, बाल रोग, नाक कान गला रोग, नेत्र रोग, दंत रोग, मानसिक रोग, स्त्री एवं प्रसूति रोग, कैंसर रोग व पल्मोनरी मेडिसिन शामिल है। एम्स प्रशासन ने मरीजों को लॉकडाउन के दौरान राहत देने के लिए 22 अप्रैल से टेली मेडिसिन शुरू की। हालांकि यह बहुत कारगर नहीं साबित हुई।**ओपीडी को लेकर नहीं बन सकी योजना*
*दिल्ली में कोरोना का संक्रमण ज्यादा विकराल है। इसके बावजूद एम्स दिल्ली में 26 जून से ओपीडी शुरू हो गई है। वहां विभागों में मरीज देखे जा रहे हैं। गोरखपुर एम्स में ओपीडी को लेकर कोई कार्ययोजना अब तक सामने नहीं आई है। एम्स के मीडिया कोऑर्डिनेशन टीम से इस बावत सवाल पूछा गया है। अभी तक उनका कोई जवाब नहीं मिला है। उनका जवाब मिलने के बाद उसे प्रकाशित किया जाएगा।* *टीबी हॉस्पिटल में भी नहीं चलती ओपीडी*एयरफोर्स के पास स्थित 100 बेड टीबी अस्पताल में भी ओपीडी ठप है। यहां पांच विशेषज्ञ समेत सात डॉक्टर तैनात हैं। इस अस्पताल में 100 बेड की क्षमता है। शासन ने सरकारी अस्पतालों में ओपीडी संचालन पर रोक हटा दी है। इसके बावजूद टीबी अस्पताल में ओपीडी नहीं शुरू हो सकी है। अस्पताल के प्रभारी डॉ. अरुण चौधरी ने बताया कि यहां क्वारंटीन सेंटर बना है। ऐसे में दूसरे संक्रमितों को संक्रमण का खतरा हो सकता है। हालांकि जिला अस्पताल, मेडिकल कालेज और रेलवे अस्पताल में ओपीडी संचालित हो रही है।*

जिला  सवांददाता -रतन गुप्ता की रिपोर्ट

Check Also

मनरेगा योजना में बड़े पैमाने पर की जा रही धांधली, बिना काम कराए लग रही फर्जी हाजिरी

🔊 Listen to this निचलौल(महराजगंज)रोजगार सहायक एवं मेट हाथ साफ कर रहे हैं। निचलौल ब्लाक …