गोरखपुर :-कोरोना काल में होटलों की हालत खराब, स्टाफ की तनख्वाह भर भी नहीं हो रही कमाई*

एस पी न्यूज(सवांददाता)*लॉकडाउन में जैसे-तैसे कर्मचारियों का वेतन देने वाले होटल मालिक अनलॉक-01 में तनख्वाह देने भर की भी कमाई नहीं कर पा रहे हैं। होटल मालिकों का कहना है कि कर्मचारियों को तनख्वाह देना तो मजबूरी है, लेकिन मौजूदा हालात में बिजली का बिल और हाउस टैक्स अदा करना भी मुश्किल है। जून तो शादी-विवाह के कुछ आयोजनों के बीच गुजर गया, लेकिन जुलाई मुश्किलों वाला साबित होगा।*शहर में बीते कुछ वर्षों में होटल रेडिसन ब्लू और निर्वाना सरोवर पोर्टिको खुले हैं। वहीं होटल क्लार्क और शिवाय जैसे होटल वर्षों से लोगों को सेवाएं दे रहे हैं। लॉकडाउन के बाद अनलॉक-01 में भी होटल सेक्टर पूरी तरह धड़ाम हैं। होटलों में 20 से 30 फीसदी ही बुकिंग है। वहीं कुछ होटलों में तो एक भी ग्राहक नहीं हैं। होटल सिर्फ सफाई के लिए ही खुल रहे हैं। मोहद्दीपुर स्थित रेडिशन ब्लू होटल के प्रबंधक अभिषेक बताते हैं कि ‘होटल में 118 कमरों में 33 की बुकिंग हैं। इसके साथ ही छोटी-छोटी पार्टियां ही हो रही हैं*।’ *सरोवर पोर्टिको होटल के मालिक शोभित दास का कहना है कि ‘लॉकडाउन में बिना आमदनी के वेतन दिया। अब कुछ पार्टियां हुई हैं तो बंदिशों के साथ। जुलाई से कोई लगन नहीं है। ऐसे में मुश्किल दिख रही है।’ शिवाय होटल के प्रबंधक त्रिलोकी नाथ का कहना है कि ‘80 से अधिक कमरों में बमुश्किल 20 की बुकिंग हो पा रही है। दिक्कतें हैं, लेकिन लोगों को सुविधा देना लक्ष्य है।*बिजली बिल माफ करे सरकार*
*होटल संचालकों की मांग है कि प्रदेश सरकार को बदहाल होटल व्यवसाय को लेकर कुछ सहूलियतें देनी चाहिए। बिना आय के कर्मचारियों का वेतन देना मजबूरी है। ऐसे में बिजली के बिल की माफी मिल जाए तो काफी सहूलियत होगी। होटल क्लार्क के मालिक पवन बथवाल कहते हैं कि ‘कुछ लोग होटल में आ रहे हैं, लेकिन इसका कोई लाभ नहीं है। कमरे दो बुक हों या फिर 50 खर्च में कोई खास अंदर नहीं होता। ऐसे में सरकार को होटल व्यवसाय को लेकर विशेष सहूलियत की घोषणा करनी चाहिए।*’

जिला सवांददाता-रतन गुप्ता की रिपोर्ट

Check Also

पति व दरोगा के प्रताड़ना से जिंदगी और मौत से जूझ रहि बबीता

🔊 Listen to this महराजगंज:-सिंदुरिया थाना क्षेत्र के बबीता ने पुलिस अधीक्षक को लिखित शिकायती …